संघर्ष हौसला पर शायरी 2023

आदियोगी के इस अंक में संघर्ष हौसला पर शायरी प्रस्तुत हैं। संघर्षों के मैदान को कभी भी छोड़कर मत भागो। तुम्हारे संघर्ष ही तुमको तुम्हारे अंतिम लक्ष्य तक लेकर जाएंगे। तुम्हारी विजय तय है। बस आवश्कता है तो एक सतत संघर्षरूपी प्रयास की। परिस्थितियाँ चाहे जो भी हों। परिस्थितियों के डर से सपने तो नहीं तोड़ दिए जाएंगे। हमारा लक्ष्य बड़ा होना चाहिए। आप ये बात भी जानते हैं, कि बड़े लक्ष्य के लिए संघर्ष और परिश्रम भी बड़ा चाहिए। हम ऐसी सभ्यता में जी रहे हैं जो पुनर्जन्म में विश्वास रखती है। हम मरेंगे, फिर जन्म लेंगे, अपने लक्ष्य की प्राप्ति हेतु पुनः संघर्ष करेंगे। लेकिन अपने लक्ष्य को कभी नहीं भूलेंगे। ऐसा मनोभाव होना चाहिए।

संघर्ष हौसला पर शायरी
Sangharsh hausala par shayari

जब नदी निकलती है, तो पर्वत को भी उसके रास्ते से हटना पड़ता है। यदि नहीं हटता है तो नदी धीरे-धीरे उसे काटकर अपने साथ वहा ले जाती है। परिस्थितियों और संसाधनों की वजह से हम संघर्षों से मुख नहीं सकते। ऐसा करने वाला कभी अपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर पाता है।

Read also- किसी को जलाने की एटीट्यूड शायरी 2024

हमारे रास्ते में अनेक बाधाएं आएंगे। अनेक ठोकरें लगेंगी। हम गिरेंगे। उठेंगे फिर संभलेंगे और पुनः अपने लक्ष्य की ओर चलना शुरू कर देंगे।

संघर्ष हौसला पर शायरी

“कभी मंगल तो कभी शनि कभी राहु भारी है।
हर किसी के जीवन में इक संघर्ष जारी है।।”

– शायरी संग्रह


“हमें अपने पैरों पर खड़े होना है। अपने
अधिकार के लिए लड़ना है। अपनी ताकत
और बल को पहचानो क्योंकि शक्ति और प्रतिष्ठा, संघर्ष से ही मिलती है..!”

– संघर्ष सुविचार


“ये दुनिया उन्हीं लोगो का संघर्ष जानती है,
जो लोग सफल हो जाते हैं।”

– संघर्ष सुविचार


“संघर्ष भरी जिंदगी में ख्वाहिशें हजार रखो,
पूरी हो या ना हो कोशिशें बरकरार रखो।”

– संघर्ष सुविचार


“खुशी तो मनाएंगे…
जब सब कुछ हार कर भी हम सबों का दिल जीत जाएंगे !”

– शायरी संग्रह


“हार जीत अपनी जगह है,
आत्महत्या कायर करते हैं।”

– शायरी संग्रह

“हार के डर से…….
सत्य और संघर्ष का मार्ग
कभी मत छोड़ना..!”

– शायरी संग्रह


“आपका संघर्ष उसकी यात्रा से नहीं,
सफलता के आंकड़े से मशहूर है।”

– शायरी संग्रह

“अक्सर जो साथ बैठ के हंस गए,
पीठ पीछे वो ही डस गए।”

– सुविचार संग्रह


“संघर्ष के समय कोई नज़दीक नहीं आता,
सफलता के बाद किसी को आमंत्रित नहीं करना पड़ता..।”

– सुविचार संग्रह


“जो चल रहा है उसके पाँव में ज़रूर छाला होगा,
बिना संघर्ष के चमक नहीं मिलती,
जो जल रहा है तिल-तिल, उसी दीए में उजाला होगा।”

– सुविचार संग्रह


“एक दिन वर्षों का संघर्ष, बहुत ख़ूबसूरत तरीके से तुमसे टकरायेगा।”

– सुविचार संग्रह


“संघर्ष जितना बड़ा होगा..
जीत भी उतना बड़ी होगी…!!”

– सुविचार संग्रह

“चट्टानों को चीरकर भी उगना..
बस यही तो जीवन है, संघर्ष की पहचान है।”

– सुविचार संग्रह


“जो संघर्ष से डर जाता है, वह जिंदा रह कर भी जवानी में मरा हुआ है।”

– सुविचार संग्रह


“जिन्होंने आपका संघर्ष देखा है, सिर्फ वो ही आपकी कामयाबी की कीमत जानते है, बाकी सब के लिए आप ‘भाग्यशाली’ है।”

– सुविचार संग्रह


“संघर्ष ‘व्यक्तिगत’ होता है, सफलता ‘सामूहिक’ …!”

– सुविचार संग्रह


“जो संघर्ष की राह पर चलता है वही संसार को बदलता है ।
जिसने रातों से जंग जीती है, सूर्य बनकर वही निकलता है।।”

– सुविचार संग्रह


“हो चुका है आगाज रण का युग बदलने की तैयारी है..
इतिहास बही बनाएंगा जिसका संघर्ष जारी है..।”

– सुविचार संग्रह


“अपने संघर्ष को अपना जुनून बना लो,
जब तक वो तुम्हारी कहानी ना लिख दे…।”

– सुविचार संग्रह


“जिनके इरादे मेहनत की स्याही से लिखे जाते हैं..,
उनकी किस्मत मे कभी खाली पन्ने नहीं होते हैं।”

– सुविचार संग्रह


“हम जितना अधिक संघर्ष कर सकते हैं,
जीत हमारी उतनी ही शानदार होगी।”

– सुविचार संग्रह


“हौसले जिनके चट्टान हुआ करते हैं,
रास्ते उनके ही हमेशा आसान हुआ करते हैं।
ऐ नादान ना घबरा तू इन परेशानियों से,
ये संघर्ष तो पल भर के मेहमान हुआ करते हैं।”

– सुविचार संग्रह

“संघर्षों की समर भूमि में, हमसे पूछो हम कैसे हैं,
कालचक्र के चक्रव्यूह में, हम भी अभिमन्यु जैसे हैं।”

– संघर्ष सुविचार


“संघर्षों के साथ तय किया ‘शून्य से शिखर’ तक का सफर…!”

– संघर्ष सुविचार


“संघर्षों से लिखी है, दास्ता कामयाबी की साजिशों से बुझ जाऊ वो चिराग नहीं हूँ… जो गुरुर और रुतबा कल था, वो आज भी हैं, और आगे भी रहेगा।”

– संघर्ष सुविचार


“व्यक्ति में इतनी ताकत हमेशा होनी चाहिए कि,अपने दुख एवं संघर्षों से अकेले जूझ सके..।”

– संघर्ष सुविचार


“जीवन में सबसे बड़ी सफलता हमारी सोच की शक्ति होती है। सकारात्मक सोच हमें संघर्षों के बावजूद आगे बढ़ने की प्रेरणा देती है।”

– संघर्ष सुविचार

“सफलताओं का ‘शीर्षक’ न हो तो , ‘संघर्षों’ की कहानी कोई नही पढ़ता…..!”

– संघर्ष सुविचार


“आत्मविश्वास आपको समस्याओं से लड़ने की शक्ति देता है…! संघर्षों से उत्पन्न ज़ख्मों के ऊपर मरहम का कार्य करता है…! तथा फिर से नई संघर्षों से लड़ने की प्रेरणा भी देता है।”

– संघर्ष सुविचार


“जीवन की आपा धापी में,
संघर्षों की घन थाती में..!
कुछ ख्वाब अधूरे छूट गये,
कुछ अपने हम से रूठ गये..! वो स्वर्णिम जीवन बचपन का
वो हर पल पुलकित जीवन का..
छोटी चीजे, अविरल खुशियाँ
उन लम्हों से हम छूट गए..।”

– संघर्ष सुविचार


“साहस लिखकर जीवन
अपना निर्भय कर लेता हूँ..!
नीलकंठ की महिमा से मै,
विष को पय कर लेता हूँ..!
घनघोर अंधेरे में खुद को,
शिव के आश्रय कर लेता हूँ..
संघर्षों से युद्ध करूँगा
मैं यह तय कर लेता हूँ..
रणभूमि मे भेरि बजाकर
हरि की जय कर लेता हूँ..!
शून्य शिखर पर जाने को
निज तन को शव कर लेता हूँ..।”

– संघर्ष की गाथा


“जो संघर्षों से परिचित नहीं होता ,
वह कभी चर्चित नहीं होता।”

– संघर्ष की गाथा


“संघर्षों के साए में असली आजादी पलती है..! और
इतिहास उस ओर मुड़ जाता है..! जिस ओर जवानी चलती है..!”

– संघर्ष की गाथा


“सोना तपने के बाद,
‘मानव’ संघर्षों के बाद ही निखरता है..।”

– संघर्ष की गाथा


“माना अगम अगाध सिंधु है, संघर्षों का पार नही है,
किंतु डूबना मझधारो में, साहस को स्वीकार्य नहीं है.!”

– संघर्ष की गाथा

“संघर्षों से बिता जीवन,
वह आसमान देखता था।
सपनों को पंख लगाकर,
वो भविष्य की उड़ान देखता था।”

– संघर्ष की गाथा


“आग में तपकर स्वर्ण कुंदन बना करता है..प्रहार सहकर पत्थर मूरत बना करता है..! ज़िंदगी सरलताओं में नहीं बनती है… ‘साहेब’..संघर्षों की आग में तपकर ही इंसान बना करता है..।”

– सुविचार संग्रह


“संघर्षों से मुंह मत फेरो,
जीवन में तपना पड़ता है..।
यूँ ही अंकुर नहीं निकलता,
मिट्टी में दबना पड़ता है..।”

– सुविचार संग्रह

“अपनी जिंदगी थकती नहीं संघर्षों से,
क्योंकि ख्वाब है,हौसलों के पार जाने के..।”

– सुविचार संग्रह


“मंजिलें क्या हैं.. रास्ता क्या है?
हौसला हो तो फासला क्या है..?”

– सुविचार संग्रह

“हौसला रहा तो मुश्किलों का हल भी निकालेगा, जमीं बंजर हुई तो क्या हुआ वहीं से जल भी निकलेगा।”

– सुविचार संग्रह


“जिंदगी का जिंदगी से वास्ता जिंदा रहे,
हम रहें जब तक हमारा हौसला जिंदा रहे।”

– सुविचार संग्रह


“मुकम्मल मिले मंजिल हौसला बुलंद कर चलो।
निसाना रहे लक्ष्य पर न आंखे बंद कर चलो।
हार भी जायेंग़े मगर उस पार भी जायेंगे हम।
उम्मीदों व इरादों के अस्त्र चाक चौबंद कर चलो।”

– सुविचार संग्रह
संघर्ष हौसला पर शायरी

“हौसला डगमगाएगा,
डर भी डराएगा …
कुछ समझ ना आएगा,
और
मन हारना चाहेगा …! लेकिन इसके बाद भी अगर टिके रहे!
तो देखना जीत कौन रोक पायेगा..!!”

– शायरी संग्रह


“डर कहता है यह असंभव है,
अनुभव कहता है, यह जोखिम भरा है..।”

– शायरी संग्रह

“तर्क कहता है यह मुश्किल है,
पर हौसला कहता है एक बार कोशिश तो कीजिए..।”

– शायरी संग्रह


“हौसला रखो एक समय ऐसा आएगा कि,
घड़ी दूसरे की होगी और समय , आपका बताएगी।”

– शायरी संग्रह


“जिसमें अकेले चलने का हौसला होता है,
उनके पीछे एक दिन पूरा काफिला होता है।”

– शायरी संग्रह


“तू रख हौसला वो मंज़र भी आएगा।
प्यासे के पास चल के समंदर भी आयेंगा।
थक कर ना बैठ ए मंजिल के मुसाफिर,
मंजिल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी आएगा।”

– शायरी संग्रह


“रख हौसला कि ज़रूर क़दम चूमेगी कामयाबी।
तेरे दिन भी आएंगे, जब मंज़िल पर तेरा ही हस्ताक्षर होगा..।”

– शायरी संग्रह

“ना पूछ कि मेरी मंजिल कहां है,
अभी तो सफर का इरादा किया है।
ना हारूंगा हौसला चाहे कुछ भी हो जाए,
ये मैंने खुद से ये वादा किया है।”

– शायरी संग्रह


“मंजिल कितनी भी दूर क्यों न हो..!
मगर लक्ष्य मेरा अर्जुन के तीर सा हो,
कमजोरियाँ चाहे कितनी भी हों..!
मगर हौसला सीमा पर खड़े वीर सा हो..।”

– संघर्ष सुविचार


“हौसला और रुतबा बनाए रखो ज़िंदगी में,
अच्छे और बुरे दिन तो आते जाते रहेंगे।।”

– संघर्ष सुविचार


“अगर तुम में अकेले चलने का हौसला है। तो खुद पर यकीन रखो और अपने रास्ते चलते रहो। भले ही आज तुम्हारे पीछे कोई ना हो, पर एक दिन तुम्हें सुनने के लिए हजारों लाखों की भीड़ होगी और तुम सबका नेतृत्व कर रहे होंगे।”

– संघर्ष सुविचार


“लहर है हौसला है रब है हिम्मत है दुआयें हैं, किनारा करने वालो से किनारा कर लिया मैंने..।”

– संघर्ष सुविचार


“मुश्किलों से बहुत सीखने को मिला,
बीच राह में नहीं रुकने को मिला..।
किसी के आगे नही झुकने को मिला ,
हौसला था तभी तो जिंदगी में आगे बढ़ने का मौका मिला।”

– संघर्ष सुविचार


“लाख दलदल हो पांव जमाए रखिए ।
हाथ खाली ही सही ऊपर उठाए रखिए।
कौन कहता है छलनी में पानी नही रुक सकता।
बर्फ बनने तक हौसला बनाए रखिए।”

– संघर्ष सुविचार

“पंख ही काफ़ी नहीं हैं आसमानों के लिए,
हौसला भी चाहिए ऊंची उड़ानो के लिए।”

– संघर्ष सुविचार

निष्कर्ष

इस लेख ने आपको संघर्ष और हौसला को समझाने का छोटा सा प्रयास किया! संघर्ष तब तक कठिन लगता है। जब तक उसके परिणाम आना शुरू नहीं होते! जिस दिन संघर्ष के परिणाम आने शुरू हो जाएंगे! तब यही संघर्ष आपको आनंद की अनुभूति कराएगा। आपका भविष्य आपका परिश्रम रूपी संघर्ष तय करता है।

प्रिय पाठक..! आप हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं। ठीक वैसे ही आपके सुझाव भी हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं! इस छोटे से संग्रह के बारे में आप अपने सुझाव ‘कमेंट’ के माध्यम से प्रस्तुत करें। ऐसा मेरा अनुरोध है।

Articles related to “संघर्ष हौसला पर शायरी”

Also Like our Facebook Page..!

Also Follow us @Twitter..!

इस आर्टिकल को शेयर करें -

Leave a Comment