शायरी लव रोमांटिक 250+

प्रेम जीवन का अभिन्न अंग है। प्रणाम.! इस अंक में शायरी लव रोमांटिक संकलित हैं। जिसमें 250+ शायरियों का समावेश है। सब के जीवन में एक बार ऐसा समय अवश्य ही आता है, जब किसी से प्रेम होता है। कभी न कभी वो व्यक्ति अवश्य मिल जाता है। जिसको देख कर ऐसा महसूस हो ही जाता है। कि इसके बिना जीना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन भी है।

शायरी लव रोमांटिक
रोमांटिक लव

लव यानि कि प्रेम का प्रवाह कभी रुक नहीं सकता है। शायरी शब्दों के मेल का प्रवाह है। जिस के माध्यम से प्रेम को व्यक्त किया जाता है। जब व्यक्ति किसी के प्रेम में वशीभूत होता है, रोमांटिक हो जाता है। तब शब्दों का एक प्रवाह बनता है। वही शब्द रूपी प्रवाह शायरी का रूप ले लेता है।

Also read- प्रेम पर संस्कृत श्लोक अर्थ सहित

शायरी लव रोमांटिक

“मुन्तज़िर हूँ कि सितारों की जरा आँख लगे,
चाँद को छत पर बुला लूंगी इशारा करके।”

– anonymous


“तुम जब आओगे तो खोया हुआ पाओगे मुझे,
मेरी तन्हाई में ख़्वाबों के सिवा कुछ भी नहीं,
मेरे कमरे को सजाने कि तमन्ना है तुम्हें,
मेरे कमरे में किताबों के सिवा कुछ भी नहीं।”

– गुमनाम शायर


“हुस्न की अक्कासी करता हूं!
इश्क़ की नक़्क़ाशी करता हूं!!
मैं अपने शेरों और नग्मों में!
जज़्बों की तर्जुमानी करता हूं!!”

– diary of quotes


“कितनी ख़लिश सहने के बाद!
गुंचा कोई बनता गुलाब!!
दिल के ख़ून में अंगुली डुबोकर!
लिखी जाती प्यार की किताब!!”

– anonymous


“ऐ दुनिया, जब तूने मुझे अपनाने से इंकार किया!
खुद ही को यार बनाया खुद ही से मैंने प्यार किया!
वही दर्द जिसे सुनने का वक़्त नहीं था किसी के पास!
मैं अपने शेरों, नज़्मों और गीतों में इज़हार किया !”

– Shayari king


“भला ये भी कोई शायरी है जनाब!
न इश्क़ न हुस्न न शराब न शबाब!!
क्या और कोई आपको मौज़ू न मिला!
कि लेकर बैठ गए देश और समाज!!

– गुमनाम शायर


“मैंने चाहा था एक ऐसा हमसफ़र!
जो कहे मुझसे केवल इतना आकर!!
लड़ना चाहती हूं मानवता के दुश्मनों से!
मैं मरते दम तक तुम्हारे साथ मिलकर!!”

– anonymous


“ये मत पूछो किसने मेरा प्यार भरा दिल तोड़ दिया!
वो क़िस्मत थी या दुनिया जिसने मेरा रूख़ मोड़ दिया!
एक भेड़ों का चरवाहा बांसुरी बजाना भूल गया!
जब से किसी पनिहारी ने पनघट पर आना छोड़ दिया!”

– गुमनाम शायर


“तू मुझे छोड़ गई लेकिन एक याद तो रख लेती!
मेरे अरमानों की बस्ती आबाद तो रख लेती!!
जीते जी तो मुझे तेरी गली भी न मिल सकी!
मेरे आख़िरी मक़ान की बुनियाद तो रख लेती!!”

– Shayari king


“आंसू ने उसकी आंखों को जब कंवल बनाया होगा!
अपने दर्द भरे नाले को उसने ग़ज़ल बनाया होगा!
ख़ुदा जाने टूटा होगा उसका कौन-सा ख़्वाब!
जिसने कि लफ़्ज़ों का ताजमहल बनाया होगा!”

– anonymous


“जद्दोजहद भी वैसे करते ख़िलाफत भी वैसे करते!
इस दुनिया की रिवायत से तुम बगावत भी वैसे करते!
हम चांद तो नहीं थे कोई कि मुश्किल हो हमें पाना!
अरे, मुहब्बत जैसे की थी तुम हिम्मत भी वैसे करते!”

– Shayari king


“तेरे लिए ही पंछी गाते हैं!
तेरे लिए ही नदी बहती है!!
अब भी मुझे लगता है जैसे!
तेरे लिए ही हवा चलती है!!”

– गुमनाम शायर


“अब हम रहें कि न रहें लेकिन निशानियां खत्म नहीं होंगी!
आंसू और ख़ून से लिखी हुईं कहानियां ख़त्म नहीं होंगी!
ख़ैर मेरी यह फ़ानी ज़िंदगी कुछ काम तो आई हुस्न के!
कुर्बान हुईं जो इश्क में वो जवानियां ख़त्म नहीं होंगी!”

– Shayari king


“उनकी निगाहें निगाहों से बात करती है,
आदतें ऐसी है जैसे वो मोहब्बत करती है।
उनके दिल की धड़कन हमें भी सुनाई पड़ती है,
पर ना जाने क्यों वो हमें दोस्त दोस्त कहती है।।”

– anonymous


“बस्ती-बस्ती बंजारा दिल! तुम्हें ढूंढ़े आवारा दिल!
पसंद है तो खुलकर बोलो अगर तुमको हमारा दिल!!”

– Shayari king


“हम तो बेचैन तेरे सरहदों में आकर
काश मन का पंछी होता धरा पर ..!!”

– Shayari king


“अमूमन कभी याद आए आंखो में
कहा भी न जाए देख भी न पाए .!!”

– गुमनाम शायर


“निवेदित प्राणप्रिये, श्रृंगारित राते
सवर कर आती ,मेहताबी राते.! पुलकित हरदे कुंज ,देख तेरी आंखे
जड़ित चांद सितारे ,खूबसूरत राते ..!!

– anonymous


“न जानें क्यों कुछ खोया सा है ..?
जबसे उन्हे देखा निगाहों से अपने ..!!”

– Shayari king


“कुछ खत तो लिखे थे हमने भी,
मगर उसे हम न दे पाए उन्हें कभी।
सहेज कर रखे हैं अभी भी खतों को,
मगर अब वो पहले वाला जज्बात नहीं।”

– गुमनाम शायर


“तकनीकी कुछ ज़्यादा हो गए
अनचाहे मनचाहे गिरफ्त हो गए ..!!”

– Shayari king


“गुफ्तगू भी आपसे अब होती नही
तेरी याद रात की अब जाती नही ..!!”

– anonymous


“आलम का पहरा अगर न होता
सकूं की उड़ान उन्मुक्त होता ..!!”

– Shayari king


“दोराहे पे कदम दो नयन मेरे
नक्शे कदम पे चल रहे थोड़े ..!”

– गुमनाम शायर


“संजीदा प्यार का फलसफा फकत मेरा
चाहत दिलो को , हो एक वस्ल तेरा ..!!”

– Shayari king


“गुलाबों की तरह शबनम में अपना दिल भिगोते हैं मुहब्बत करने वाले ख़ूबसूरत लोग होते हैं।”

– anonymous


“दफा वफा की हर सितम सहेंगे
भा गए ये आंखे,आंखो से कहेंगे ..!!”

– Shayari king


“तारीफ कीजिए तसरीफ कीजिए ये नूर है जनाब मेहताब देखिए ..!!”

– Shayari king


“इतना न याद आया करो की सो न सके हम,
सुबहो सूझी आंखो का सवाल पूछते है लोग।”

– गुमनाम शायर


“इश्क़ का सैलाब संभाले बैठे हैं, कोई साहिल तो मिले।
मोहब्बत हमारी मुक्कमल हो ना हो, कोई इतना काबिल तो मिले।।”

– Shayari king


“सुना है दिल के, बड़े सच्चे हो, यार सचमुच में, बड़े अच्छे हो, तुम तो दुनिया से बहुत डरते हो, इश्क के खेल में, तुम बच्चे हो।”

– anonymous


“बड़ा हसीन है उनकी जुबान का जादू,
लगा के आग बहारों की बात करते हैं…।
जिन्होंने रात में बेखौफ बस्तियां लूटीं,
वही नसीब के मारों की बात करते हैं…।।”

– Shayari king


“आदत नहीं है हर इश्क़ की,
उसे आदाब से इबादत मिले।
कुछ इश्क़ ऐसे भी होते हैं यहाँ,
आदाब के बाद रुख़सत हो जाते हैं।”

– Life quote


“तेरे नयनों की प्याली, मुस्कुराहटों की हो मिठास…!
तेरे साथ की सुकून, तेरी बातों का हो स्वाद..!
तो कैसे चाहूँ चाय को, कुछ और लगे क्यों खास!!”

– गुमनाम शायर


“हमने चाय पीकर कभी कुल्हड़ नहीं तोड़ा तुम्हारा दिल तोड़ना तो दूर की बात है।”

– Life quote


“सुन्दर, सक्षम, और अद्भुत नारी लगती है।
हाय! मेरी रानी साड़ी ने कितनी प्यारी लगती है।।”

– anonymous


“तेरे होठों की ये हॅंसी,कमाल लगती है, तेरे चेहरे की ये खुशी,कमाल लगती है, तेरा एहसास, तेरा अपनापन, तेरा लहज़ा, तेरी आवाज दिलनशीं,कमाल लगती है।”

– Shayari king


“मेरी हर साँस में तेरी याद होती है, आंखों को तेरी तलाश होती है,
कितनी खूबसूरत है ये मोहब्बत, दिल धड़कने में तेरी आवाज होती है।”

– गुमनाम शायर


“किस्मत मे ना सही, दिल मे तो हमेशा रहोगे,
वो कहते है ना कि, कुछ कहानियाँ,
बिना अलविदा कहे ही खतम हो जाती है।”

– Shayari king


“मैं दिन में तुम्हें हजार बार याद करता हूं
मैं तुम्हें तुमसे ज्यादा प्यार करता हूं।”

– गुमनाम शायर


“काश एक दिन ऐसा आये हम तेरी बाहों में समा जाये,
सिर्फ हम और तुम रहे दर्मिया और सारा वक़्त ठहर जाये।”

– anonymous


“तुम पसन्द आए थे, ये इस्तिफाक था।
लेकिन तुम ही पसन्द रह गए, ये इश्क है।।”

– Life quote


“कुछ तो हैं कि दिल भी यूं महक महक सा गया कुछ जिस्म कि तासीर खिल गई कुछ रू भी गुलाब बन गई!”

– Life quote


“हमें जमाने भर की खुशियों की ख्वाहिश नहीं,
बस तुम्हारा एक मुस्कुराता हुआ चेहरा काफी है।”

– गुमनाम शायर


“उदास “जिन्दगी”, उदास वक्त, उदास मौसम,
कितनी चीजो पे “इल्ज़ाम” लगा है तेरे ना होने से।”

– Shayari king


“ख़ामोश चेहरा,आंखों पर पहरा
खुद हैं गवाह, तेरे प्यार का।।”

– anonymous


“जो कहा मैंने कि प्यार आता है मुझ को तुम पर
हँस के कहने लगा और आप को आता क्या है!!”

– Shayari king

Conclusion

लव यानि प्रेम की शायरी का यह संग्रह एक छोटा सा प्रयास है ! एक समय की बात है रमण नाम के ऋषी के पास एक युवक गया ! महर्षि रमण को ईश्वर ने साक्षात दर्शन दिए थे।वह युवक डॉक्टरेट की पढ़ाई कर रहा था ! वह युवक महर्षि रमण से बोला, महात्मन मैं सब कुछ छोड़ कर आपकी शरण में आना चाहता हूं ! महर्षि रमण ने उस युवक से पूछा, क्या कभी किसी से लव यानि प्रेम हुआ है ! ऐसा प्रेम जिस के बिना जीने का मन नहीं करता हो ! युवक ने उत्तर दिया, नहीं ऋषिवर मैं इन सब कामों से मैं दूर रहता हूँ। महात्मा बोले फिर मैं तुझे अपनी शरण में नहीं ले सकता हूँ। क्योंकि तू यदि किसी इंसान का नहीं हो पाया तो भगवान का क्या होगा। तुझे ईश्वर से नहीं मिला सकता।

Also read- किस्मत life शायरी, स्टेटस, कोट्स 2024

प्रिय पाठक..! आप हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं। इस “शायरी लव रोमांटिक” संग्रह पर आपके सुझाव आमंत्रित हैं ! शायरी संग्रह की इस श्रृंखला में आप अपने सुझाव हमें ‘कमेंट‘ के माध्यम से भेज सकते हैं ! हम इस संग्रह को और अच्छा बनाने का प्रयास करेंगे।

Also read- किसी को जलाने की एटीट्यूड शायरी 2024

इस आर्टिकल को शेयर करें -

Leave a Comment